मुख्य वाक्यांशों के लिए एक शब्द

“वाक्यांशों के लिए एक शब्द” हिन्दी में एक वाक्य, वाक्यांश अथवा अनेक शब्दों के लिए एक शब्द का प्रयोग होता है वह प्रायः संस्कृत से लिया जाता है।

कभी कभी कोई वक्ता किसी बात को कहने में बहुत से शब्दों का प्रयोग करता है तथा कभी-कभी उसी बात को कहने के लिए कम से कम शब्दों का प्रयोग करता है। कम से कम शब्दों में अधिक से अधिक भावों को व्यक्त करना उत्तम मन जाता है, क्योंकि ऐसी भाषा प्रभावशाली होती है।

प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले अपठित गद्यांश से संबंधित सारांश को हल करने के लिए भी इन शब्दों का सम्पूर्ण ज्ञान होना अति आवश्यक है।

परिभाषा – “अधिक से अधिक विचारों को अभिव्यक्त करने वाले शब्दों को भाववाचक शब्द कहते है।“

वाक्यांशों के लिए एक शब्द – तालिका

हमने यहाँ अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले एवं परीक्षा की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण वाक्यांश के लिए एक शब्द की अध्ययन सामग्री का अवलोकन किया है। इसका PDF नीचे दिया गया है। कृपया इसका लाभ उठाए एवं अपनी अध्ययन सामग्री में शामिल करें।

Related – महत्वपूर्ण एकल शब्द (One Word Substitution)

  • शरीर के किसी अवयव का टूटना – अंगभंग
  • हाथी को हाँकने का लोहे का औजार – अंकुश
  • किसी के शरीर की रक्षा करने वाला – रक्षक
  • महल का वह भाग जहाँ रानियाँ निवास करती है- अंतःपुर
  • जो कहा न जा सके – अकथनीय
  • जिसके पास कुछ भी नहीं हो – अकिंचन
  • जो प्यासे के खेल में कुशल हो – अक्षधूर्त
  • जिसकी गिनती न की जा सके – अगणित
  • जो बहुत गहरा हो – अगाध
  • जो पहले जन्मा हो – अग्रज
  • जिसको गोद में स्थान मिला हो – अंकस्थ
  • जो ऊँचा न हो – अतुंग
  • मर्यादा का उल्लंघन करके किया हुआ – अतिकृत
  • सीमा का अनुचित उल्लंघन – अतिक्रमण
  • आवश्यकता से अधिक बरसात – अतिवृष्टि
  • वर्षा का बिल्कुल न होना – अनावृष्टि
  • जिसे देखा न जा सके – अदृश्य
  • पहाड़ के ऊपर की (समतल) जमीन – अधित्यका
  • पर्वत के नीचे तलहटी की भूमि – उपत्यका
  • सर्वाधिक अधिकार प्राप्त शासक – अधिनायक
  • वैधानिक सूचना जो सरकार द्वारा राजपत्र में प्रकाशित हो – अधिसूचना
  • नीचे (अधः) लिखा हुआ – अधोलिखित
  • राष्ट्रपति / राज्यपाल द्वारा जारी आदेश – अध्यादेश
  • कनिष्ठा और मध्यमा के बीच की उंगली – अनामिका
  • जो दोहराया न गया हो – अनावर्त
  • जो ढका हुआ न हो – अनावृत
  • जिसका कोई घर न हो – अनिकेत
  • प्रेम उत्पन्न करने वाला – अनुरंजक
  • अविवाहित महिला – अनूढ़ा
  • जो व्यक्ति विदेश में रहता हो – अप्रवासी
  • किसी काम को बार-बार करने की तीव्र इच्छा – अभीप्सा
  • जो कम बोलत हो – अल्पभाषी
  • आदेश की अवहेलना – अवज्ञा
  • जिस स्त्री के पति व पुत्र न हो – अवीरा
  • जिसने हमला किया हो – आक्रांता
  • जो अतिथि का सत्कार करता है – आतिथेय
  • जो गुण दोष का विवेचन करता हो – आलोचक
  • जो शीघ्र प्रसन्न हो जाए – आशुतोष
  • जऑ व्याकरण जानता हो – वैयाकरण
  • तिनको से बना घर – उटज
  • दो दिशाओं के बीच की दिशा – उपदिशा
  • जो  छाती के बल चलता हो – उरग (सर्प)
  • जो केवल एक आँख वाला हो – एकाक्ष
  • को कटु बोलत हो – कटुभाषी
  • जो नया न हो – अनुतन
  • विगड़ा हुआ शब्द – अपभ्रंश
  • जो बहुत मंद गति से कार्य करता है – मंथर
  • वृक्ष, लता, फूलों से घिरा कोई सुंदर स्थान – कुंज
  • कुल का नाश करने वाला – कुलंगार
  • किए हुए उपकार को भूलने वाला – कृतघ्न
  • कुंती का पुत्र – कौंतेय
  • जो क्षमा किया जा सके – क्षम्य
  • जहाँ धरती और आकाश मिलते दिखाई देते है – क्षितिज
  • भूख से पीड़ित – क्षुधार्त
  • जिसके सिर पर बाल न हो – खल्वाट
  • जो आकाश में विचरण करता हो – खेचर
  • आकाश को स्पर्श करने वाला – गगनचुंबी
  • जऑ छिपाने योग्य हो – गोपनीय
  • सापों का स्वामी – फणीन्द्र
  • कार्य करने की इच्छा – चिकीर्षा
  • बारात के ठहरने का स्थान – जनवासा
  • जीतने की इच्छा – जिगीर्षा
  • भोजन की इच्छा रखने वाला – बुभुक्षु
  • किसी को मरने की इच्छा – जिघत्सा
  • जींद रहने की इच्छा – जिजीविषा
  • जानने की इच्छा – जिज्ञासा
  • छोटी छोटी बूंदों की वर्षा – झींसी
  • जो चोरी छिपे माल लाता ले जाता हो – तस्कर
  • तैरकर पार करने की इच्छा – तितिर्षा
  • बाणों को रखने का साधन – तूणीर
  • पति पत्नी का युगल – दंपती
  • व्यक्ति जिसे गोद लिया जाए – दत्तक
  • दस वर्षों की समयावधि – दसक
  • जंगल मे फैलने वाली आग – दावाग्नि
  • जो कठिनाई से समझ मे आता है – दुर्बोध
  • जिसको पार करना कठिन हो – दुर्लघ्य
  • जो काम कठिन हो – दुष्कर
  • जिसको मापना कठिन हो – दुष्परिमेय
  • भिन्न भिन्न देशों की यात्रा – देशाटन
  • जो शीघ्रता से कहता है – द्रुतगामी
  • जिसका सर झुका हो – नतमस्तक
  • जिस स्त्री का विवाह अभी हुआ हो – नवोढ़ा
  • जो वेद की सत्ता में विश्वास नहीं करता – नास्तिक
  • जो माँस न खाता हो – निरामिष
  • अर्द्ध रात्री का समय – निशीथ
  • रंगमंच पर पर्दे के पीछे का स्थान – नेपथ्य
  • पति द्वारा छोड़ दी गई पत्नी – परित्यस्ता
  • जों पहनने लायक हो – परिधेय
  • हाथ की लिखि पुस्तक या मसौदा – पांडुलिपि
  • मार्ग में खाने के लिए भोजन – पाथेय
  • समुद्र में लगने वाली आग – बड़वानल
  • रात  का भोजन – ब्यालू
  • औषधियों का जानकार – भेषज
  • मरने की इच्छा – मुमूर्षु
  • रंगमंच का पर्दा – यवनिका
  • गलत है जो रास्ता – विपथ
  • जिसके कोई संबंधी न हो – विबन्धु
  • जो खाना सदैव मुफ़्त में दिया जाता है – सदावर्त
  • प्रमाण द्वारा सिद्ध करने योग्य – प्रमेय
  • जऑ भोजन रोगी के लिए उचित है – पथ्य
  • दक्षिण और पुरव के बीच की दिशा – आग्नेय
  • उत्तर और पश्चिम के बीच की दिशा – वायव्य

वाक्यांशों के लिए एक शब्द PDF

सामान्य हिन्दी के मुख्य भाग इन्हें भी देखे

वाक्यांशों के लिए एक शब्द प्रश्न उत्तर

  1. जिसके बराबर का कोई न हो –
    • विलक्षण
    • अनुपम
    • असाधारण
    • लोकातीत
  2. जिसे कठिनाई से जीता जा सके –
    • विजित
    • अज्ञेय
    • अजेय
    • दुर्जेय
  3. कष्ट से सम्पन्न होने वाला –
    • कष्टकारी
    • कष्टप्रद
    • कष्टसाध्य
    • कोई नहीं
  4. जहाँ पहुँचा न जा सके –
    • दुर्गम
    • अधिगम
    • अगम
    • सुगम
  5. जो पहले कभी नहीं हुआ हो –
    • नया
    • अभूतपूर्व
    • नॉनवेज
    • अंकुर

प्रतियोगी परीक्षाओं में वाक्यांशों के लिए एक शब्द

विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा जैसे उत्तर प्रदेश पुलिस, मध्यप्रदेश पुलिस, बी एड, टी जी टी, पी जी टी, एस एस सी, रेलवे, सब इंस्पेक्टर, कांस्टेबल आदि में सामान्य हिन्दी के इस अध्याय से दो से चार नंबर के प्रश्न वाक्यांशों के लिए एक शब्द से संबंधित होते है, आप परीक्षा में इन प्रश्नों को आसानी से हल कर सकते है, क्योंकि ये बहुत सरल होते है तथा इनका अभ्यास करना भी सरल है। थोड़े से अभ्यास से आप इन प्रश्नों को सरलता से हल कर अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते है।

वाक्यांशों के लिए एक शब्द
वाक्यांशों के लिए एक शब्द हिन्दी

Leave a Comment