समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द {Bhinnarthak Shabd} - Skills Hindi

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द

श्रुतिसम / समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द (Bhinnarthak Shabd) ऐसे शब्द शब्द जिनका उच्चारण तो एक समान होता है, लेकिन उनका अर्थ भिन्न होता है, ऐसे शब्दों को समोच्चरित भिन्नार्थक या युग्म शब्द कहते है।

दूसरे शब्दों में इन्हे हम इस प्रकार भी कह सकते है की- वे शब्द जिनकी वर्तनी (spelling) में थोड़ा सा अंतर है परंतु इनका अर्थ में कोई समानता नहीं होती है, इन्हे समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द कहते है।

जैसे – करता और कर्ता शब्द का उच्चारण समान सा है लेकिन करता का अर्थ है- करना तथा कर्ता का अर्थ है- एक प्रकार का कारक । प्रतियोगी परीक्षा की दृष्टि से हमने यहाँ अत्यंत महत्वपूर्ण समोच्चरित भिन्नार्थक शब्दों की एक तालिका प्रस्तुत की है जो आपके लिए बहुत उपयोगी है। आप सरलता से इस अध्ययन सामग्री का अध्ययन कर परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते है।

श्रुतिसम समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द संबंधित प्रश्न उत्तर

  1. अम्बर – अम्बार शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • अमर – अमराई
    • वस्त्र – अत्यधिक
    • आकाश – एक फल विशेष
    • कपड़ा – सिलाई
  2. धात्र – धात्री शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • बर्तन – माता
    • मकान – सवारी
    • गुफा – बड़ी गुफा
    • झण्डा – धारण करने वाला
  3. नौटंकी – नौटंका शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • ड्रामा – अभिनेता
    • लोकनाट्य – अत्यंत हल्का
    • संगीत – धूर्तता
    • दिखावा – पहनावा
  4. प्रतिकूल – प्रतिकूला शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • विरोधी – विरोधाभास
    • प्रतिद्वंद्वी – सहयोगी
    • प्रतियोगी – वियोगी
    • विपरीत – सपत्नीक
  5. इति – ईति शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • समाप्त – शुभ
    • प्रारंभ – विघ्न
    • विघ्न – समाप्त
    • समाप्त – विघ्न
  6. कुच – कूच शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • उरोज – सेना
    • सेना – स्तन
    • उरोज – प्रस्थान
    • स्तन – कली
  7. सम – शम शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • शांति – चावल
    • शांति – मोक्ष
    • चावल – शांति
    • समान – मोक्ष
  8. यथागत – तथागत शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • मूर्ख – भगवान बुद्ध
    • आज्ञाकारी – भगवान महावीर
    • किंकर्तव्यविमूढ़ – पार्श्वनाथ
    • ज्ञानी – नागार्जुन 
  9. निर्वाद – निर्विवाद शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • भ्रम, निन्दा – बिना विवाद के
    • गन्दगी – समझौता
    • निष्कासहन – भाईचारा
    • सद्गुण – मित्रता
  10. प्रहार – परिहार शब्द युग्म का सही अर्थ है –
    • आक्रमण – अपनाना
    • हमला – रक्षा करना
    • मारना – त्यागना
    • उत्पीड़न – प्रतिज्ञा

महत्वपूर्ण Bhinnarthak Shabd समोच्चरित भिन्नार्थक तालिका 

शब्द अर्थशब्द अर्थ
अचार
आचार
आम आदि का
आचरण
अमित
अमीत
अधिक, बेहद
शत्रु
अचल
अचला
पर्वत
पृथ्वी
अभिसार
अभीसार
आगे बढ़ना
आक्रमण
अनिष्ट
अनिष्ठ
बुरा
निष्ठा रहित
असि
असी
तलवार
काशी की एक नदी
अविराम
अभिराम
लगातार
सुन्दर
आकार
आकर
रूप, सूरत
खदान
अविज्ञ
अभिज्ञ
मूर्ख
विद्वान
आसन
आसन्न
बैठने की वस्तु
निकट
अक्ष
अक्षि
धुरी
आँख
आदि
आधि
आरम्भ
पीड़ा
अभय
उभय
भय रहित
दोनों
इत्र
इतर
सुगंध
दूसरा
प्रमाण
प्रणाम
सुबूत
नमस्कार
उतर
उत्तर
उतरना
प्रश्न का उत्तर
अन्त
अन्त्य
समाप्ति
अंतिम
ओक्षर
ओक्षल
पेट
ओट
अब्ज
अब्द
कमल
बादल
कंकाल
कंगाल
हड्डियों का समूह
गरीब
अभिनय
अभिनव
अनुकरण
नया
विपिन
वीपिन्न
जंगल
गरीब
अलि
अली
भौंरा
सखी
यान
जान
वाहन
प्राण
अनुसार
अनुस्वर
अनुरुप
(अं) की बिंदी
सूची
सुचि
सुई, विषय-क्रम
सूचना देने वाला
अवदान
अवधान
योगदान
ध्यान देना
सिर
सीर
मस्तक
हल की लकिर
अवधि
अवधी
तारीख या तिथि
एक भाषा
पड़ना
पढ़ना
गिरना किसी
पुस्तक का पढ़ना
आभण
आवरण
गहना
ढकना
डोंगी
ढोंगी
छोटी नाव
पाखंडी
तरणि
तरणी
तरुणी
सूर्य
नौका
युवती 
तनु
तनू
सुन्दर, सुकुमार
माप
अति
इति
बहुत
समाप्त
तारीक
तारीख
काला, अँधेरा
तिथि
करकट
कर्कट
कचरा
केकड़ा
देव
दैव
देवता
भाग्य
कलि
कली
कलियुग
फूल की कली
दस
दसन
एक संख्या
दाँत, कवज
कटौती
कठौती
कमी करना
काष्ठ का पात्र
जगत
जगत्
कुएं का चबूतरा
संसार
कुंडल
कुंतल
एक गहना
सिर के बाल
चण्ठ
चण्ड
चालाक
तीव्र, तीक्ष्ण  
कुट
कूट
किला
पर्वत
चंद्री
चंद्रि  
चंद्रमा की पत्नी
बुद्ध ग्रह
कुल
कूल
वंश
किनारा
चिरि
चिरी
तोता
चिड़िया
कोशल
कौशल
अयोध्या का प्रदेश
निपुणता
पत्री
पत्ती  
चिठ्ठी
पता
क्ष्मा
क्षमा
पृथ्वी
माफी
तप
तप्य
तपस्या
शिव
गण
गण्य
समूह
गिनने योग्य
परक
परख
युक्त होना
परीक्षा
अविलंभ
अवलंभ
बिना देर के
सहारा
फन
फ़न
साँप का सिर
गुण, हुनर
दिन
दीन
दिवस
गरीब
पुष्कल
पुष्कर
पर्याप्त
सरोवर
नकल
नकुल
किसी का अनुकरण करना
नेवला
कुजन
कूजन
दुर्जन
पक्षियों का कलरव
आदि
आदी
शुरुआत
कुशल / अभ्यस्त
कृषाण
कृशानु
किसान
आग
नीरज
नीरद
कमल
बादल
ओझर
ओझल
पेट
ओट
परिमाण
परिमाण
नतीजा
मात्रा
उपार
अपार
भूल, दोष
सीमा- रहित
प्रदीप
प्रतीप
दीपक
उल्टा
अनंग
अनग
बिना शरीर का
बिना नग का
पानी
पाणी
जल
हाथ
चसक
चषक
आदत,
लत प्याला
ब्याल
ब्यालू
सर्प
रात्री भोज
कर्म
क्रम
कार्य
सिलसिला
भट
भट्ट
योद्धा
पण्डित
उध्र्र्व
उध्र्र्वा
ऊँचा
प्राचीन काल की नाव
अरिचि
मरीचि
किरण
सूर्य
तर्ण
तर्णि
बछड़ा
सूर्य, बेड़ा
मेघ
मेध
बादल
यज्ञ
टुक
टूक
थोड़ा
टुकड़ा
वारिद
वारिधि
बादल
समुद्र
धरा
धारा
पृथ्वी
प्रवाह
हिम
हेम
वर्फ
स्वर्ण
धुरा
धूर
अक्ष
धूल
अनल
अनिल
आग
वायु
पायक
पावक
दूत
अग्नि
चिर
चीर
देर
वस्त्र
कश
कष
चाबुक कसौटी
कृपण
कृपाण
कंजूस
तलवार
दिया
दीया
देने की क्रिया
मिट्टी का दीपक
अंब
अंबु
आटा
जल
नीर
नीड़
पानी
घोंसला
अर्ध
अर्ध्य
आधा
पूजा का समान
बहु
बहू
अधिक, ज्यादा
पुत्रवधू
तरंग
तुरंग
लहर
घोडा
शशाधर
शशीधर
चंद्रमा
शिव
चपला
चपल
बिजली
तेज
स्त्रोत
श्रोत
निकासी, साधन, धरा
काम
कोश
कोष
शब्दकोश
खजाना  
वन्न
वन्य
साझेदार
वन में पैदा हुई
bhinnarthak shabd

इन्हे भी देखे

Leave a Comment